एलर्जी (Allergy) क्या है प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार क्या क्या है ?

आजकल देखा जा रहा है कि एलर्जी बहुत थी आम होती जा रही है क्यों खासकर बच्चों में नजर आती है जिसकी वजह से लोग हर कई चीजों का सेवन नहीं कर पाते और इस वजह से उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
Allergie-kya-hai-puri-jankari

जब किसी इंसान की इम्यून सिस्टम यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता के नुकसान रहित पदार्थों के संपर्क में आता है तो एलर्जी संबंधी समस्याएं होने लगती हैं ।
Topics-स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट
नाक की एलर्जी के लक्षण
एलर्जी की टेबलेट
स्किन एलर्जी क्रीम
एलर्जी की दवा पतंजलि
एलर्जी की दवा बताये
एलर्जी rhinitis के लिए पतंजलि दवा
एलर्जी in english meaning


एलर्जी क्या है ?

प्रतेक मनुष्य भले महिलाये हो या पुरुस में कुदरत ने बाहरी तत्तों को सहन करने की खास ताकत भरी है फिर भी कई बार एसे तत्त्व जो मनुष्य के शरीर पर दुष्प्रभाव डालने वाले एवं शरीर के भीतर पहुँचने की कोशिश करते है।
तब शरीर के आंतरिक तत्व हलचल में आकर उन उल्टे तत्त्वों के प्रभाव को शरीर पर पड़ने की कोशिश को रोकते है। इस तरह की प्रक्रिया एलर्जी की उत्पत्ति का कारण बनती है।

किसी खास ड्रग्स वस्तु एवं पोषण के प्रति आपका शरीर और अपनी प्रतिक्रिया देता है तो वह एलर्जी माना जाता है कई लोगों से पत्तिया पता लगा है कि एलर्जी बचपन से ही होती है
लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है
हां यह बात सच है कि कुछ लोगों में यह काफी लंबे समय तक रहती है लेकिन आपको बता दें कि एलर्जी के मामले में ज्यादातर नियंत्रण रखा जा सकता है जल्दी एक साधारण बीमारी है जब भी हमें किसी खास से एलर्जी महसूस होती है तो इस स्थिति में हमारे इम्यून सिस्टम इन चीजों को स्वीकार नहीं कर पाता है और नतीजा कुछ खतरनाक एक्शन के तौर पर निकलता है

एलर्जी के प्रकार (Type of Allergy)

एलर्जी हमें कई तरह से हो सकता है कुछ चीजों से हो सकता है।आजकल कई तरह की एलर्जी देखने को मिल जाती है इनमें से सबसे ज्यादा परेशान करने वाली रैली जैसे आंख और नाक की एलर्जी है।
  1. दवा से एलर्जी-किसी दवा आदि से होने वाले असमान प्रतिक्रिया को हम ड्रग एलर्जी कहते हैं
  2. मौसमी एलर्जी- जो आंखों में पानी खुजली छिके और इनसे जुड़ी अन्य चीजें पैदा करते हैं मौसी में एलर्जी के अंतर्गत आते हैं
  3. खाद्य पदार्थों से एलर्जी-किसी भी सरकार के खाद्य पदार्थों के सेवन से होने वाले खतरनाक एक्शन को हम खाद्य पदार्थों से एलर्जी के अंतर्गत रखते हैं
  4. त्वचा एलर्जी-इस प्रकार की एलर्जी समस्या किसी पदार्थ को छूने या उसके संपर्क में आने से त्वचा में लाल लाल चकते यादी का होना होता है
  5. जानवरों से एलर्जी-जानवरों की लार मूत्र और त्वचा की समस्याओं से एक पत्र अच्छा प्रणामी होने वाली असामान्य रिएक्शन का होना
इसी प्रकार से एलर्जी के कई प्रकार हो सकते हैं ऊपर हमने कुछ मुख्य प्रकार के बारे में बता दिया है।

एलर्जी के लक्षण

  1. शरीर पर खुजली
  2. चमड़ी का लाल होना
  3. लाल दाने होना
  4. शरीर के दाने वाली जगह पर सूजन होना
  5. एलर्जी होने से एग्जिमा नाम की बीमारी भी हो सकती है जिससे जोर से खारिश होने या उस जगह पर पानी का रिसाव होने लगता है।
  6. एलर्जी के कारण कुछ लोगों को अस्थमा नाम की बीमारी हो जाती है। इस स्थिति में रोगी को सांस लेने में परेशानी आती है।
  7. फेफड़ों में सूजन या जलन होना
  8. छींक आना, नाक बंद होना, जुकाम होना
  9. गले मे तेज जलन एवं दर्द होना
  10. पेट दर्द होना
  11. चेहरा होठ आंखों में सूजन
  12. जी मचलाना एवं डायरिया
  13. खाने में तकलीफ 

खून जांच से एलर्जी का पता

एलर्जी एक ऐसी बीमारी है। जिसका कारण आमतौर पर समझ नही आता परंतु कुछ ऐसे लक्षण तो होते है जो यह बता देते है कि आप एलर्जी ग्रस्त है।
मात्र एक Blood Test आपकी मुश्किल को आसान कर सकता है।
कई प्रकार की एलर्जी का इलाज दवाओं से हो सकता है। खून की जांच करने पर एलर्जी किस प्रकार की है यह पता लग जाता है। एवं उसके अनुरूप दावा देने से एलर्जी का इलाज संभव है।

एलर्जी (Allergy) होने के कारण/एलर्जी क्यों होती है

एलर्जी हमारे दैनिक जीवन मे भ्रमण करते हुए हमारे आसपास के माहौल/वातावरण से कई कारणों से हो सकती है। जैसे पेड़, पौधें, धूल, मिट्टी, पालतू जानवर दवाये एवं खाने पीने की वस्तुयें इत्त्यादि से।
  1. एक परिवार के विभिन्न सदस्यों, महिला, पुरूष, बच्चे या बृद्ध विभिन्न वस्तुओं से एलर्जी हो सकती है।
  2. कुछ को फूलों को झुने से एलर्जी हो सकती है।
  3. दूध दही, मांस, मछली का सेवन करने से भी एलर्जी हो सकती है।
  4. पॉलीथिन या नायलॉन के साथ भी एलर्जी हो सकते है।
  5. सौन्दर्य प्रसाधनों के प्रयोग से भी एलर्जी हो सकती है।
  6. कोबाल्ट, निक्कल एवं क्रोमियम इत्त्यादि जैसे रसायनों से भी एलर्जी हो सकती है।
आपको बता दें कि हर व्यक्ति में अलग-अलग तरह के इलाज भी होती हैं यदि आपको बार बार जुखाम होता है ना तो जांच सांस लेने में तकलीफ होती है खुजली होती है
कुछ लोगों को आहार पदार्थों से भी दर्ज होती है पेट में भी दर्द होता है चेहरे में सूजन आ जाना त्वचा में जलन जैसे भी कई तरह के दर्जी होते हैं

इलाज

एलर्जी से इलाज के लिए निम्न तीन तरीके हैं सबसे अच्छा तरीका है आपको जिस वजह से एलर्जी हो रही है उस चीजों से आप दूर रहें
जिस दवा से आपको एलर्जी हो उस दवा को बिल्कुल ना खाएं इम्यूनोथेरेपी इसमें मरीज को इंजेक्शन दिए जाते हैं जिन से एलर्जी करने वाले तत्वों के लिए प्रति उसकी संवेदनशीलता में कमी आ जाती है

घरेलू उपचार

जिन लोगों को सर्दी जिसमें नाक की एलर्जी है तो उन्हें नींद काली मिर्च शहद और हल्दी का सेवन करना चाहिए जिससे काफी फायदा रहेगा
इसके लिए नीम की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें इस पेस्ट को एक छोटी सी गोली बना लें इसे शहद मेड बाय और हर सुबह खाली पेट निकल जाए यह तरीका आपको एलर्जी में फायदा पहुंचाता है चाहे वह त्वचा की एलर्जी हो आप भोजन कीजिए

Labels: