रक्त (Blood) क्या है कार्य और कैसे बनता है ?

रक्त क्या है (What Is Blood)

रक्त एक शारीरिक तरल है जो रक्त वाहिनियों के अंदर बिभिन्न भागो में लगातार बहता रहता है।रक्त वाहिनियों में प्रवाहित होने वाला गाड़ा, चिपचिपा लाल रंग का द्रव्य एक जीवित ऊतक है। यह प्लाविका या प्लाज्मा और रक्त कड़ों से मिलकर बनता है। रक्त अपारदर्शी एवं तरल होता है।
Blood-kya-hai-iske-kary

जो स्वाद में नमकीन होता है। तथा एक विशेष प्रकार की गंध से युक्त होता है। धमनियों में रक्त चमकीला लाल होता है। क्योंकि यह ऑक्सिजिनेटेड रहता है। और शिराओ में गहरा बैगनी लाल होता है। क्योंकि शिराओं में यह डिओक्सिनटेड रहता है।
रक्त के रंग में यह अंतर रक्त में स्थित उसके ऑक्सीजन अंश के कारण होता है। रासायनिक प्रतिक्रिया में रक्त मामूली क्षारीय होता है। रक्त का आपछित घनत्व 1.045 एवं 1.065 जे बीच रहता है।

रक्त के कार्य (Work of Blood)

  • ऊतक तक आहार लें जाना
  • ऊतकों तक पानी ले जाना
  • रक्त ऑक्सिहीमोग्लोबिन के रूप में ऊतकों तक ऑक्सीजन ले जाना
  • व्यर्थ पदार्थो को उत्सर्जित करने वाले अंगों तक व्यर्थ पदार्थो को ले जाना
  • रक्त जल संवहन के द्वरा शरीर के ऊतकों को सूखने से बचता है। और उन्हें नाम एवं मुलायम रखता है।
  • सफेद रक्ताडुओ और Antibody के द्वरा बैक्टेरिया संक्रमण से प्रतिरोध करना।
  • रक्त शरीर मे परिसंचरण करते हुए एक अंग का दूसरे अंग से सम्बंद बनाये रखता है।
  • ग्रंथियों को उन पदार्थों की पूर्ति करना जिनसे वे अपना श्रावण बनाती है।
  • रक्त समस्त शरीर मे ताप का सामान बितरण करके रक्त के तापक्रम का नियंत्रण करता है।
  • रक्त अपने प्राकृतिक स्कंदन या थक्का बनने के गुड़ के द्वरा रक्तश्राव (Haemorrhage) को रोककर जीवन की रक्षा करता है।

रक्त लाल क्यों होता है ?

हमारे फोन में कई तरह की कोशिकाएं होती हैं जिनमें से एक होती है लाल रक्त कोशिकाएं लाल रक्त कोशिका ही हमारे खून को लाल रंग देती हैं। ऐ
इसलिए कर पाते हैं क्योंकि एक कोशिकाएं लौह तत्व यानी आयरन से बनी होती है आयरन की जो रसायन दशा उन कोशिकाओं में मिलती है वह मूल रूप से प्रकाश में लाल रंग की होती

लाल रक्त शरीर के किस अंग में बनता है ?

रक्त में लाल रक्त कोशिका भ्रूण में अंडे के पित्त जो अपराध से संबंधित होती हैं बच्चे में यकृत और वयस्क में अस्थि मज्जा में बनता है क्योंकि गुण और बच्चे में काफी अस्तिया कभी अस्थियां नहीं पाई जाती हैं तेवर उपस्थित पाई जाती हैं जो बाद में अस्थि में रूपांतरित होने पर अस्थि मज्जा बनता है तो आपको

रक्त को शुद्व कोन करता है।

आपके शरीर में रक्त को शुद्ध बनाने के लिए किडनी फेफड़ा और लीवर तीनों काम करती हैं

Post a Comment

0 Comments